cg live news : छत्तीसगढ़ का काजू मचाएगा विदेशों मे धूम

0

cg-live-news-nuts-of-chhattisgarh

cg news live  : छत्तीसगढ़ में (cg samachar45 प्रतिशत भाग वनों से आच्छादित है। विदेशी लोगों को स्वदेशी छत्तीसगढ़ी उत्पादन कैसे पसंद आने लगा है और आज हम जानेंगे कि कैसे छत्तीसगढ़  की जंगलों की उपज यानी वनोंपज में से एक काजू (bastar food ) अब विदेशों में भी चर्चा का विषय बन रहा है ।  

cg live news - छत्तीसगढ़ के वनवासियों की एक कंपनी को बड़ा अवार्ड दिया गया। सिंगापुर में आयोजित ईएसजी ग्रिट पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ सहित जगदलपुर और कोरबा के दो महिला स्व-सहायता समूह पुरस्कृत हुए। महिला स्वयं सहायता समूहों ने जो मेहनत की है उसका नतीजा है कि वनवासी महिलाओं को भी अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिली है। 

news in cg - लघुवनोपज में ये हैं उत्पादन

 इमली, पुवाड़(चरोटा), हर्रा, कालमेघ, बहेड़ा, महुआ फूल (सूखा), नागरमोथा, धवई फूल (सूखा), करंज बीज, इमली फूल, शहद, बेल गुदा, रंगीनी लाख, आँवला (बीज रहित), फूल झाडू, कुसुमी लाख, कुल्लू गोंद, चिरौंजी गुठली, महुआ बीज, जामुन बीज (सूखा), कौंच बीज, वन तुलसी बीज, बायबडिंग, वन जीरा बीज, साल बीज, इमली बीज, गिलोय, बहेड़ा कचरिया, भेलवा, हर्रा काचरिया, नीम बीज। 

बस्तक( Bastar nuts ) का काजू की प्रोसेंसिंग 

(bastar news )बस्तर में बड़े पैमाने पर काजू का उत्पादन भी होता है। बड़े लघु वनोपज यानी छोटे वन उत्पादों से कुछ बनाने को ही लघु वनोपज प्रोसेसिंग कहा जाता है।  काजू के प्रोसेसिंग में और पेकेजिंग के काम से बड़ा रोजगार महिलाओं को मिल रहा है। Bastar के काजू की प्रोसेसिंग का लाभ भी अर्थव्यवस्था को मिल रहा है। प्रदेश की पहचान विदेशों तक होने लगी है।  इसी के तहत छत्तीसगढ़ को संधारणीय विकास, गरीबी उन्मूलन और महिला सशक्तिकरण के लिए अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। लघु वनोपज में शामिल काजू का हर वर्ष बस्तर जिले के बकावंड ब्लॉक में 30 हजार हैक्टेयर में खेती की जाती है। 

150 देशों से आए प्रतिनिधियों ने देखा नजारा 

chhattisgarh live news : छत्तीसगढ़ मॉडल की तारीफ करते हुए छत्तीसगढ़ के इन वनवासी प्रतिनिधियों ने 150 देशों के 200 से अधिक प्रतिनिधियों के समक्ष यह पुरस्कार ग्रहण किया। 

Read-CG News : छत्तीसगढ़ में जैव विविधता से बढ़ेगा पर्यटन

छतीसगढ़ को मिलेंगे जल्द निवेशक

live cg news - पूरी दुनिया के व्यवसायी, बैंकर्स, इनवेस्टर्स, पर्यावरणविद तथा शासकीय प्रतिनिधियों की उपस्थिति में  छत्तीसगढ़-हर्बल्स की पूरी दुनिया में पहचान सुनिश्चित किया। 
news in cg  इससे आने वाले दिनों में अधिक से अधिक  निवेशकों के आने की संभावना है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !