tech news : भारत में सुपर कम्प्यूटर से रिसर्च में आएगी तेजी

0

tech news : भारत में सुपर कम्प्यूटर से रिसर्च में आएगी तेजी

 tech news in hindi - भारत (India News)ने सुपर कम्प्यूटर से देश की अनुसंधान शिक्षा प्रणाली को नई दिशा देने और सफलता अर्जित करने के लिये  राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (National Supercomputing Mission)  को लागू गया।  योजना के तहत देश में सुपर कम्प्यूटर की जरूरत को पूरा करना है। स्थापित सुविधा इस अनुसंधान को मजबूत करेगी।

रिसर्च के साथ भारतीयी शिक्षा व उद्योगों में योगदान देगा सुपर कम्प्यूटर

computer technology news in hindi- एनएसएम ने इस सुपरकंप्यूटिंग सुविधा का उपयोग करते हुए और अन्य भारतीय संस्थानों और उद्योगों के अनुसंधानकर्ताओं को शामिल करते हुए कई अनुप्रयोग अनुसंधान परियोजनाओं को प्रायोजित किया है। (Hindi news) कुल मिलाकर, यह सुपरकंप्यूटिंग सुविधा वैश्विक सम्मान की स्थिति तक पहुंचने के लिए भारतीय शिक्षा और उद्योगों में अनुसंधान और विकास की पहल को अत्यधिक बढ़ावा देगी।
इन कंप्यूटरों का उपयोग मुख्य रूप से वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग कार्यों के लिए किया जाता है. आपको बता दें कि सुपर कम्प्यूटर आम कम्प्यूटर से काफी एडवांस होता है। सुपर कम्प्यूटर के कार्य करने की क्षमता ज्यादा होती है.  इनकी प्रोसेसिंग स्पीड भी नॉर्मल कंप्यूटर के मुकाबले हजारों गुणा अधिक होती है.

राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन के चरण-2

 राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन के चरण-2 के तहत  आपको बता दें कि हाल ही में कम्प्यूटेशनल अनुसंधान की सुविधा के लिए परम पोरुल सुपर कंप्यूटिंग सुविधा स्थापित किया गया है। एनआईटी तिरुचिरापल्ली (NIT Trichy) में राष्ट्र को समर्पित एक अत्याधुनिक परम पोरुल सुपरकंप्यूटिंग की स्थापना हाल में हुई है।
tech news in hindi-  इस सुपर कम्प्यूटर सिस्टम के माध्यम से आने वाले समय में विभिन्न वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग अनुप्रयोगों की कंप्यूटिंग जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी साथ ही   परम पोरुल सिस्टम
सीपीयू नोड्स, जीपीयू नोड्स, हाई मेमोरी नोड्स, हाई थ्रूपुट स्टोरेज और हाई परफॉर्मेंस इनफिनिबैंड इंटरकनेक्ट के संयोजन से लैस है।  उच्च शक्ति के इस्तेमाल की प्रभावशीलता प्राप्त करने और इस तरह परिचालन लागत को कम करने के लिए डायरेक्ट कॉन्टैक्ट लिक्विड कूलिंग तकनीक पर आधारित है। 

गतिशक्ति संचार पोर्टल से कैसे मिलेगा लाभ, जानिये

इन रिसर्च के लिये उपयोगी सुपरकम्प्यूट

केन्द्रीय मंत्रालय के अनुसार एनआईटी, तिरुचिरापल्ली (National Institute of Technology ,Tiruchirappalli) स्वास्थ्य, कृषि, मौसम, वित्तीय सेवाओं जैसे सामाजिक हित के क्षेत्रों में अनुसंधान कर अनुसंधानकर्ताओं के लिए यह अत्याधुनिक कंप्यूटिंग प्रणाली अत्यंत मददगार साबित होगी। अनुसंधानकर्ताओं के लाभ के लिए विभिन्न वैज्ञानिक डोमेन जैसे मौसम और जलवायु, जैव सूचना विज्ञान, कम्प्यूटेशनल रसायन विज्ञान, आणविक गतिशीलता, सामग्री विज्ञान, कम्प्यूटेशनल फ्लूड डायनेमिक्स इत्यादि से कई अनुप्रयोगों को सिस्टम पर स्थापित किया गया है।
 नई उच्च-निष्पादन वाली कम्प्यूटेशनल सुविधा अनुसंधानकर्ताओं को विज्ञान और इंजीनियरिंग के विभिन्न क्षेत्रों की बड़े पैमाने पर समस्याओं को हल करने में सहायता करेगी।

15 सुपरकंप्यूटर स्थापित किए जा चुके

 information technology news today -  एनएसएम के तहत, अब तक पूरे देश में 24 पेटाफ्लॉप की गणना क्षमता वाले 15 सुपरकंप्यूटर स्थापित किए जा चुके हैं। इन सभी सुपरकंप्यूटरों का निर्माण भारत में किया गया है और यह स्वदेशी रूप से विकसित सॉफ्टवेयर स्टैक के साथ काम कर रहे हैं।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !