Rajasthan : जोधपुर हिंसा और पत्थरबाजी, राजस्थान सीएम ने किया ये काम, क्या बोली भाजपा

0

Rajasthan jodhpur violence, jodhpur clashes, clashes in jodhpur, communal violence in jodhpur, jodhpur violence news, jodhpur violence, rajasthan,

 

Jodhpur Communal Clash- राजस्थान (rajasthan) के जोधपुर (jodhpur) में हिंसा क्यों हुई? क्यों दो समुदायों के बीच एक बार फिर पत्थरबाजी हुई और कैसे लोगों ने जमकर तोडफ़ड़ भी की। इस मामले के बाद सीएम गहलोत ने अपना जन्मदिवस नहीं मनाने का फैसला करते हुए पुलिस प्रशासन को जांच का आदेश दिया है। साथ ही 10 स्थानों में कफ्र्यू लगाया गया है और इंटरनेट बंद कर दिया गया है। 

communal violence in jodhpur- ईद के मौके पर जालोरी गेट के पास एक चौराहे पर धार्मिक झंडे को लेकर यह विवाद शुरू हुआ। इस हिंसा की मुख्य वजह यह मानी जा रही है कि भगवा ध्वज को हटाकर इस्लामी ध्वज लगाया गया ऐसा आरोप है। 

जोधपुर में हिंसा - इसी वजह से दो समुदाय के बीच झड़प का मामला सामने आया। इसके उपरांत जब स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस पर उल्टा पत्थरबाजी हुई और उसमें ५ पुलिसकर्मी घायल हो गए.

सीएम गहलोत ने नहीं मनाया जन्मदिवस

jodhpur violence news- जोधपुर हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर भ्रामक संदेश फैलाने वाले तत्वों की पहचान करने की कवायद शुरू हो गई तथा उनके खिलाफ  कानूनी कार्रवाई करने की बात कही गई है।
राजस्थान भाजपा ने गहलोत और कांग्रेस को घेरा

clashes in jodhpur - बीजेपी के कई नेताओं ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ  आवाज बुलंद करने का मौका मिला तो केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस पूरे मामले को लेकर सीएम अशोक गहलोत को घेरा। 

Read-Jahangirpuri Violence : जानिए गिरफ्तार 14 दंगाइयों के नाम

शेखावत का आरोप: हिंसा सुनियोजित, पीडि़तों पर लाठियां चलाई

jodhpur clashes- केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने आरोप लगाया कि जोधपुर हिंसा सुनियोजित है ऐसा आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सुनोयिज तरीके से स्वतंत्रता सेनानी बालमुकंद के मुंह में हरा झंडा लगाया गया. पुलिस ने पीडि़तों पर ही लाठीचार्ज किया.भारत की अस्मिता से खिलवाड़ करने वालों को सरकार की तरफ से छूट दी गई।

जोधपुर हिंसा पर भाजपा  -

Rajasthan jodhpur violence- राजस्थान पुलिस पर प्रहार करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, लगातार पथराव हो रहा था. एक ही तरह और रंग के पत्थर थे, करौली से लेकर अन्य जगह जैसी घटनाएं हुईं ऐसा लगता है पहले से तैयारी थी.  प्रशासन और सरकार की इसमें क्या भूमिका थी, इसकी भी जांच होनी चाहिए.  सुबह ईद की नमाज में ऐसा क्या हुआ? शहर में गाडिय़ों को तोड़ा, घर में लोगों के साथ मारपीट, कपड़े फड़ देना, दुकानों के शीशे तोड़ दिए गए. पुलिस और प्रशासन ने पहले से क्यों तैयारी नहीं की. जिस तरह का तांडव जोधपुर में हुआ. ऐसा कभी नहीं हुआ. लोगों के घर में जाकर हमला किया गया.

BJP की प्रदर्शन की दी चेतावनी

BJP  ने चेतावनी देते हुए कहा कि इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं हुई तो जालौरी गेट पर प्रदर्शन किया जाएगा.

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !