किसानों के लिए देश में कृषि अनुसंधान की गुणवत्ता और क्षमता बढ़ाने का आह्वान

0
उपराष्ट्रपति ने किसानों के लिए कृषि को लाभदायक बनाने के लिए चौतरफा प्रयासों को बढ़ाने का आह्वान किया  विस्तार सेवाओं को देश के हर हिस्से में ले जाएं; एक ही जगह पर (वन-स्टॉप) समाधान पेश करें': अनुसंधान दृष्टिकोण में 'प्रतिमान बदलाव' का आह्वान किया और 'तकनीकी नवाचार और मानव संसाधन में उत्कृष्टता का लक्ष्य' रखा.

उपराष्ट्रपति ने आईसीएआर-एनएएआरएम में स्नातक समारोह में भाग लिया

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने आज देश में कृषि अनुसंधान की गुणवत्ता और क्षमता बढ़ाने का आह्वान किया ताकि लंबी अवधि में कृषि-उत्पादकता में पर्याप्त लाभ प्राप्त किया जा सके। यह देखते हुए कि बिना विस्तार गतिविधियों के कोई भी उन्नत देश कृषि उत्पादकता में सुधार नहीं कर सकता, श्री नायडु ने कृषि क्षेत्र में अनुसंधान एवं विकास खर्च को बढ़ाने का सुझाव दिया - जो अभी 'हमारे कृषि सकल घरेलू उत्पाद के एक प्रतिशत से भी कम' है।

इसके अलावा, श्री नायडु ने 'कृषि शोधकर्ताओं, नीति निर्माताओं, उद्यमियों और वैज्ञानिकों से किसानों के लिए कृषि को जलवायु के प्रति लचीला, लाभदायक और टिकाऊ बनाने तथा पोषण सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास' करने का आह्वान किया।
Tags

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !